डिप्रेशन से छुटकारा कैसे पाये what is Depression in hindi

what is depression in hindi isse chutkara
What is depression in hindi – डिप्रेशन,  तनाव एवं चिंता का बढ़ा हुआ रूप है। डिप्रेशन हमारी feelings, thoughts, Behavior, पर बहुत ही बुरा प्रभाव डालता है।  डिप्रेशन की अवस्था में व्यक्ति हमेशा दुखी, अकेला, निराशावादी,  चिंताग्रस्त, चिड़चिड़ा, रहता है आदमी हमेशा guilty और worthless feel करता है ।  depress व्यक्ति लोगों से मिलना जुलना पसंद नहीं करता इसी कारण यह situation बीमारियों को जन्म देती है।
डिप्रेशन के कई कारण होते हैं जैसे financial problem, व्यापार में घाटा नौकरी ना मिलना, रिश्ते में तनाव, ब्रेकअप, छोटी-छोटी बातों की चिंता करना, alcohol और smoking का जरूरत से ज्यादा सेवन करना। डिप्रेशन का कारण होते है। इसिलए चलिए जानते हैं डिप्रेशन से छुटकारा कैसे पाये इससे कैसे बचें।
हमारे दिमाग में सेरोटोनिन serotonin नाम का एक हार्मोन होता है जो माइंड को रिलैक्स और  स्ट्रेस को दूर करने में help करता है जितना ज्यादा यह सेरोटोनिन नामक पदार्थ mind में बनेगा । उतना ही ज्यादा माइंड रिलैक्स रहेगा और आप खुश रहेंगे।  डिप्रेशन को दूर करने के लिए lifestyle खान – पान में कुछ changes करने जरुरत होती है.. जिससे सेरोटोनिन नामक पदार्थ ज्यादा रिलीज हो।

डिप्रेशन से छुटकारा पाने के लिए उपाए –

Omega-3 fatty acids – को अपने खाना में शामिल करना होगा इसे बढ़ाने के लिए आपको फिश ऑयल, कोकोनट ऑयल, अलसी का बीज, कद्दू के बीज, अंडे और chary रोज खाये इससे यह fatty acid शरीर को मिलेगा जिससे डिप्रेसन से बचाव होगा ।
Green tea – दिन में दो से तीन बार इसको पीने से mood फ्रेश फील करता है जिससे जिससे डिप्रेशन से छुटकारा पाया जा सकता है ।
Meditation (ध्यान) – यह थोड़ा सा मुश्किल उपाय क्योंकि इसे रोज 20 से 30 मिनट तक करना होता है पर depression से बचने  के लिए सबसे कारगर उपाय है इसे कहा और कैसे करना है।  इसके लिए हम पहले पोस्ट भी लिख चुके हैं जिसमे मेडिटेशन कैसे और कहां किया जाए इस करने के लिए किन – किन बातों का ध्यान रखना होगा यह सब discuss किया था। जिसका लिंक नीचे दिया है इस पर क्लिक करके पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है।
Magnesium (मैग्नीशियम) – रिच फूड्स दिमाग की stress और चिंता को दूर करने का काम करता है। इसके लिए केला, पालक, मेथी, बादाम को रात को पानी में भिगोकर रख दें और सुबह जब फूल जाए तो इसके छिलके निकालकर खाये। इससे स्ट्रेस तो काम होगा की memory  बढ़ेगी। सोयाबीन products से भी मैग्नीशियम मिलता है इसके लिए सोया मिल्क, सोयाबीन की फली खाने से लाभ होता है।
ब्राह्मी और अश्वगंधा – यह तो आप जानते हैं की है आयुर्वेदिक में प्रत्येक disease का इलाज मौजूद है। इससे किसी भी  बीमारी को दूर किया जा सकता है ब्राम्ही और अश्वगंधा, इन दोनों को रोज खाने से डिप्रेशन से छुटकारा पाया जा सकता है।
इलायची – छोटी इलायची भी इसके लिए कारगार सिद्ध होती है। आपको इसे पीसकर powder बना लेना है। यह पाउडर छोटी चम्मच में एक गिलास पानी में मिलाकर रोज पीने से यह हमारे दिमाग को ठंडक प्रदान करती है जिससे दिमाग शांत रहता है।
तुलसी – इसका भी आयुर्वेदिक में बहुत बड़ा महत्व बताया गया है वैसे सभी लोगों को इसके ढाई पत्ते रोज खाना चाहिए। जिससे कई बीमारियों से बचा जा सकता है। पर डिप्रेशन से बचने के लिए इसके पत्ते 8 से 10 पत्ते दही में मिलाकर खाने से डिप्रेशन से मुक्ति मिलती है साथ ही दिमाग भी तेज होता है।
सौंफ – खाना के बाद सौफ से खाना अच्छे से पचता है साथ ही इससे डिप्रेशन को भी दूर रखा जा सकता है इसलिए खाने के बाद आधा चम्मच सौफ जरूर खाये।
दोस्तों, इस यह पोस्ट डिप्रेशन से छुटकारा (what is depression in Hindi) के द्वारा बताये गए उपायों को आप जरूर अपनाये क्योंकि यह घरेलू आयुर्वेद नुस्खे है जिनसे आपको फायदा जरूर मिलेगा।

Leave a Reply