21 Achi Baatein स्वस्थ जीवन के लिए “अच्छी बाते”

Achi Baatein in hindi – आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग की health पर बहुत बूरा अगर पड़ रहा है। छोटे बच्चे भी हार्ट अटैक, कैंसर जैसी भयानक बीमारियों के ग्रस्त है। इसका प्रमुख कारण जीवन शैली में बड़ा बदलाव का होना है जिससे यह बीमारिया हर दूसरे आदमी को हो रही है। पर हमारे वैद्दौ और बुजुर्गो ने कुछ उपाय बताये है जिन्हे ध्यान में रखा जाये तो छोटी से छोटी बीमारी भी पास न आये तो चलिए जानते उन ज्ञान की अच्छी बातों को जिनके द्वारा प्रत्येक बीमारी से बचा जा सकता है।

अच्छी ज्ञान की बाते अच्छे स्वास्थ्य के लिए –

achi baatein in hindi

ज्ञान की बातें – फल या मीठा खाइये, तुरंत न पीजे नीर !! ये सब छोटी आंत में, बनते विषधर तीर।

अर्थ – कोई भी मीठी चीज कैसे मिठाई, गुड़, शक्कर और फल ( fruits) खाने के तुरंत बाद पानी नही पीना चाहिए यह छोटी आंत को नुकसान करता है।

अच्छी बातें – प्रातः काल पानी पियें, घूंट घूंट कर आप !! बस दो – तीन ग्लास है, हर औषधि का बाप।

सुबह उठने के तुरंत बार 2 से 3 ग्लास गुनगुना पानी पीना चाहिए इससे पेट अच्छे से साफ होता है जिससे कोई भी बीमारी होने की तक आशंका नही रहती।

Gyan ki Baatein – भोजन करके जोहिये, केवल घंटा डेढ़ !! पानी इसके बाद पी, ये औषधि का पेड़।

खाना खाने के बाद चाहे वह सुबह, दोपहर या शाम का हो इसके तुरंत बाद पानी कभी नही पीना चाहिए । पर खाना खाने के लगभग 1 घंटे बार खूब पानी पियें।

Achi Baatein – प्रातः काल रस लो, दोपहर लस्सी छाछ !! सदा रात में दूध पी, सभी रोग का नाश।

जो लोग सुबह फल का रस ( juice), दोपहर में लस्सी, छाछ, दही और रात में सोते समय दूध पीते है वह हमेशा स्वस्थ रहते है।

ज्ञान की बातें – पहला स्थान सेंधा नमक, पहाड़ी नमक सु जान! श्वेत नमक है सागरी, ये है जहर समान !!

हमारे बुजुर्गो ने खाने के लिए सेंधा नमक सबसे अच्छा बताया है। और कहा है सफेद नमक जो हम आज के जीवनकाल में उपयोग कर रहे है वह जहर के समान है। मतलब यह शरीर को नुकसान करता है।

अच्छी बातें – ऊर्जा मिलती है बहुत, पिएं गुनगुना नीर !! कब्ज खत्म पेट की, मिट जाए हर पीर।

पेट की बीमारियों को दूर करने या इनसे बचने के लिए हमेशा गुनगुना पानी का सेवन करना चाहिए । इससे पेट के सभी रोग से निजात पाया जा सकता है।

Gyan ki Baatein – सितम गर्म जल से, करिये मत स्नान ! घट जाता है आत्मबल, नैनन को नुकसान !!

गर्म पानी से कभी की नहाना नही चाहिए  इससे शरीर को नुकसान तो होता ही है। साथ ही सबसे महत्वपूर्ण भाग आंख को बड़ा नुकसान होता है।

Achi Baatein – तुलसी का पत्ता करें,  हरदम उपयोग मिट जाए ! हर उम्र में , तन के सारे रोग !!

रोज तुलसी के पौधे में से ढाई पत्ते तोड़कर जरूर खाये। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है। फलस्वरूप बीमारी उत्पन्न होने कीटाणु को नष्ट करने की तागत आती है।

ज्ञान की बातें – लौकी का रस पीजिये, चोकर युक्त पिसान ! तुलसी, गुड़, सेंधा नमक हृदय रोग निदान !!

आज के समय मे हार्ट अटैक बहुत आम बीमारी हो गई है इससे बचने के लिए लौकी का जूस रोज नियमित रूप से पिये और साथ मे तुलसी, सेंधा नमक, और गुड़ का सेवन करे।

अच्छी बातें – ठंडा पानी पियो मत, करता क्रूर प्रहार ! करे हाजमे का सदा, ये तो बंटाढार !!

ठंडा पानी हमेशा सेहत को खराब करता है। इसीलिए कोल्ड वाटर कभी भी नही पीना चाहिए हमेशा गुनगुना पानी ही पिये

Gyan ki Baatein – एल्युमुनियम के पात्र का, करता जो उपयोग ! आमंत्रित करता सदा, वह अडतालिश रोग !!

आज के दौर में खाना बनाने के लिए एल्युमिनियम के बर्तन का उपयोग होता है। पर इनमे बना खाना शरीर के लिए बहुत हानिकारक होता है। भोजन का सही लाभ लेने के लिए मिट्टी के बर्तनों में खाना बनाना चाहिए।

Achi baatein – प्रातः दोपहर लीजिये, जब नियमित आहार ! तीस  मिनट की नींद लो, रोग न आवे द्वार !!

दोपहर को खाना खाने के बाद तीस मिनट का आराम या नींद शरीर के लिए फायदेमंद होती है।इसे माइंड और बॉडी दोनो ही रिलेक्स फील करते है।

Achi Baatein – देर रात तक जागना, रोगों का जंजाल ! अपच आँख के रोग संग, तन भी रहे निढाल !!

देर रात तक जागना अब trend में आ चुका है पर सच तो यही है कि रात में जल्दी सोना और सुबह जल्दी उठने से ही हेल्दी रहा जा सकता है।

ज्ञान की बातें – सुबह खाइये कुंवर सा, दोपहर यथा नरेश ! भोजन लीजे रात में, जैसे रंक फ़क़ीर !!

सुबह और दोपहर में भरपेट भोजन करे कोई कसर न रहे। पर रात में स्वस्थ रहने के लिए हल्का और भूख से कम भोजन खाइये । यही अच्छी सेहत का राज है।

ज्ञान की बातें – गुड़ में पानी डालिये, बीत जाये जब रात ! सुबह छान कर पीजिये, अच्छे हों हालात !!

रात में सोने से पहले 100 ग्राम गुड़ में पानी डालकर इसे रख दे। सुबह होने पर इसे छानकर पीड़ित को पिलाने से हालत अच्छी हो जाती है।

अच्छी बातें – धनिया की पत्ती मसल, बून्द नैन में डार ! दुखती अंखिया ठीक हो, पल लागे दो च्यार !!

हरी धनिया को मीडकर इसका रस आँख में डालने से आँख को ठंडक पुहुँचती है जिसे आँख को आराम मिलता है।

ज्ञान की बातें – भोजन करें धरती पर, पालथी मार ! चबा चबा कर खाइये, वैध न झांके द्वार !!

आज डायनिंग टेबिल का जमाना है सब लोग कुर्सी पर बैठकर खाना खाना पसंद करते है। जिससे गैस, एसिडिटी, अपच जैसी बीमारी हो जाती है । इनसे बचने के लिए जमीन पर पालटी मारकर और खाना अच्छे से चबाकर खाने से अपच, बदहजमी जैसी कई बीमारियों से बचा जा सकता है।

ज्ञान की बातें – भोजन कर रात में, घूमे कदम हजार! डॉक्टर ओझा वैध का, लूट जाये व्यापार !!

रात में भोजन करने के बाद एक हजार कदम चलने की सलाह दी है हमारे बड़े – बुजुर्गों ने पर आज के व्यस्त माहौल के चलते लोग 200 से 300 कदम ही चल लें तो भी काफी है।

Achi baatein – रक्तचाप बढ़ने लगे तब मत सोचो भाय ! सौगन्ध राम की खाय के तुरंत छोड़ो चाय !!

अगर किसी को blood pressure की बीमारी है तो इससे बचने के लिए चाय नही पीना चाहिए क्योंकि tea पीने के शरीर को बहुत बड़े नुकसान होते है।

ज्ञान की बातें – दर्द घाव फोड़ा चुभन सूजन चोट पिराइ ! बीस मिनट चुम्बक धरो पिरवा जाय ही जाय !!

यह तरीका दर्द, सूजन आदि के लिये कारगार है। शरीर मे जहाँ भी दर्द की समस्या है उस जगह पर चुम्बक (magnate) रखने से दर्द, सूजन खत्म हो जाता है

अच्छी बातें – अलसी, तिल, नारियल, घी, और सरसों का तेल! यही खाइये नहीं, तो हार्ट समझिये फेल !!

दिल को स्वस्थ रखने के लिए अलसी, तिल, नारियल, घी, का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए। इससे हार्ट की डिसीज़ नही होती।

अच्छी बातें – चोकर खाने से सदा, बढ़ती तन की शक्ति! गेहूं मोटा पीसिये, दिल में बढे विरक्ति !!

चोकर का मतलब यहां पर दलिया, मोटा अनाज से है इसे खाने से तन को ऊर्जा मिलती है और गेहूं का आटा मोटा पिसा हुआ खाना चाहिए इससे हार्ट स्वस्थ रहता है।

ज्ञान की बातें – भोजन करके खाइये, सौंफ गुड़ अजवाइन ! पत्थर भी पच जायेगा, जाने सकल सुजान !!

जो लोग भोजन करने के बाद सौफ, अजवाइन, गुड़ का सेवन करते है उन्हें अपच, एसिडिटी और पेट मे किसी भी प्रकार की बीमारी नही होती।

अच्छी बातें – चैत्र माह में नीम की पत्ती, हर दिन खाय ! ज्वर डेंगू मलेरिया कोसों दूर भगाय !!

नीम का पेड़ बहुत लाभदायक होता है यह तो सभी जानते है पर चेत्र में नीम के 2 – 3 पत्ते खाने से बुखार, डेंगू, मलेरिया से छुटकारा पाया का सकता है।

Leave a Reply