अपना नजरिया Moral story in hindi

एक गांव में एक किसान रहता था। वह रोज नहा धोकर भगवान की पूजा करके खेत जाता अपनी फसल उगाने के लिए खूब मेहनत करता और बाकी सब भगवान पर छोड़ देता क्योंकि वह भगवान पर बहुत भरोसा करता था। एक दिन उसने अपने खेत में फसल बोकर उसे बड़ा करने के लिए बहुत मेहनत की और कुछ समय काटने का समय आ गया पर उसी समय बहुत तेज बारिश के साथ ओले भी गिरे… जिससे सारी फसल ख़राब हो गई।
farmer hindi moral story
यह देख वह किसान बहुत दुखी हुआ, क्योंकि अब उसके पास खाने और अगली बार फसल बोने के बिल्कुल भी अनाज नहीं बचा था। यह सोच” – उसने फैसला लिया की वह भगवान को पत्र लिखकर दो हजार रूपए मांगने की याचिका करेगा।
उस किसान ने पत्र लिखा और उसे post office जाकर पोस्ट कर दिया जब डाकिया ने यह पत्र निकाला तो उसमे भगवान के नाम पत्र तो लिखा था पर उनका पता कही न था।
इसलिए उसने यह पत्र खोलकर पढ़ना शुरू किया और बहुत जोर जोर से हसने लगा उसको हँसता देख डाकिये के साथ वालो ने उसके हॅसने कारण पूछा- तब डाकिये ने उत्तर दिया की एक किसान जिसकी फसल बर्बाद हो गई है जिसके कारण उसके पास खाने और बोने के लिए न तो बीज है न तो पैसा इसलिए उसने भगवान को पत्र लिखकर दो हजार रूपये मांगे है।
यह सुनकर” एक व्यक्ति में सभी लोगो को उस किसान की मदद करने के पूछा और सभी लोग मदद करने के लिए तैयार हो गये। डाकिया और उसके साथिओ ने 1500 जुटाकर उस किसान से पते पर पोस्ट कर दिए जब किसान के पास वह मनी आर्डर पहुंचा तो वह बहुत खुश हुआ पर जब उसने देखा इसमें 1500 रूपये ही है
तो उसने भगवान को एक और पत्र पोस्ट किया” –  जिसमे उसने लिखा भगवान अबकी बार आप मुझे घर पर आकर पैसे दे जाना ये डाकिया चोर होते है पिछली बार अपने 2 हजार रूपये भेजे थे जिसमे से मुझे पंद्रह तो रूपये ही मिले, पाँच सौ रूपये डाकिये में चुरा लिए।
Read also:-

Leave a Reply