जीवन क्या है ? – What is the Purpose of life in hindi

जीवन क्या है What is meaning of life  यह समझना बहुत मुश्किल है क्योंकि कई लोंगो जीवन पर अलग-अलग विचार है। कोई कहता है जिंदगी एक रंगमच है और हम जैसा रंग इसमें भरते है यह वैसा ही रूप धारण करती है और कोई कहता है। जिसने इस प्रकृति की रचना यह उस ईश्वर का दिया हुआ वरदान है जिसे अच्छे कामो में लगाना चाहिए और कोई कहता है। जिंदगी एक खेल है life is a game जिसे किस्मत जैसे चाहे खेल सकती है
jeevan kya hai
असल में जिंदगी एक नजरिया (Perception) है जो भी इसे जिस नजरिये से देखता है जीवन उसे वैसा ही दिखाई देता है फिर इंसान का नजरिया किसी भी प्रकार का हो सकता है इससे कोई फर्क नहीं पड़ता
नजरिया अपने विचारो (thoughts) से बनता है और विचार अपने आप से हम क्या सोचते है और क्या करते है इन दो बातों से विचारो का जन्म होता है विचार दो प्रकार होते है सकारात्मक (Positive) और नकारात्मक (Negative) अगर आपके विचार सकारात्मक है तो आप बुरी चीज या परिस्थिति में भी अच्छाई ढूढ़ (Find) लेंगे और नकारात्मक है तो अच्छी चीज या परिस्थिति में बुराई मिल जाएगी
यह तो कई बार सुना होगा कि एक गिलास पानी से आधा भरा हुआ है और लोगो से पूछा जाए की इस गिलास में आपको क्या दिख रहा है तो कुछ लोग कहेंगे गिलास आधा भरा हुआ है और कुछ लोग कहेंगे गिलास आधा खाली है यह उस गिलास के बारे में लोंगो के विचार है और जो गिलास उनको आधा भरा या खाली दिखता है यह उनका नजरिया जो उनको यह दिखाता है
जो लोग इस गिलास को भरा हुआ मानते है वो खुश रहते है और सोचते है मेरे पास आधा गिलास पानी है वही दूसरी तरफ जो लोग उस गिलास को आधा खाली मानते है वो इसे देखकर दुःखी
जीवन क्या है – यह नजरिया ही है जिसे लोग उस गिलास के पानी की तरह समझ सकते है क्योंकि जिस तरह उस गिलास में पानी तो समान है। पर लोग अपने नजरिया के कारण खुश या दुखी रहते है ठीक उसी तरह लोगो का जीवन भी समान है यह उन पर निर्भर करता है की गिलास आधा भरा है या खाली

Leave a Reply