दिमाग को शांत कैसे रखें/करे Peace of Mind

आज की इस भागदौड़ भरी life में किसी इंसान के पास इतना समय भी नही है कि वह खुद के लिए समय निकाल सके। इसी के चलते न जाने हम कितनी ही व्यस्तताओं से घिरे हुए है ऐसे में दिमाग को शांत रख पाना बहुत ही मुश्किल है इन्ही कारणों से आज हम सब stress और depression के शिकार हो रहे हैं, और फलस्वरूप तनाव के कारण कई तरह disease भी जन्म ले रही है।

how to get peace of mind in hindi

ऐसे में यह जानना महत्वपूर्ण हो जाता है कि हम तनाव से कैसे दूर रहे हैं दिमाग और मन को शांत कैसे रखे। दरअसल दिमाग को शांत रखना कोई प्रतिभा नहीं है यह एक कौशल है, अगर कुछ बातों को ध्यान में रखा जाए तो हम मन और दिमाग दोनों को शांत रखकर Depression और anxiety जैसे समस्याओ से बच सकते है।

Peace of mind के लिए बेहतरीन उपाए

कारण पता करे (Know Reason) – मन और दिमाग को शांत रखने के लिए सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि इस अशांति का कारण क्या है जैसे किसी समस्या को सुलझाने के लिए उस समस्या को समझना जरूरी होता है ठीक उसी तरह दिमाग की अशांति को दूर करने के लिए इसका कारण जानना भी बहुत जरूरी है। कारण जानकर उसे कैसे ठीक कैसे करे, इसके बारे में विचार करे।

मेडिटेशन (Meditation)- दिमाग की शांति के लिए मेडिटेशन एक अचूक उपाय है। इससे जागरूकता मिलने के साथ खुद को समझने की शक्ति भी मिलती है जिससे mind peaceful feel करता है

दिनचर्या बनाये (Make Routine) – दिनचर्या ना होना किसी भी अशांति का एक बड़ा कारण होता है। क्योंकि हर समय.. हम किसी न किसी चीज में व्यस्त रहते हैं पर routine बनाकर सभी चीजों को समय दिया जाए तो उलझने पैदा नही होती जिससे दिमाग शांत रहता है इसीलिए टाइम टेबल बनाएं हमेशा काम में बिजी रहने के बजाए, छुट्टियों का मजा लें, नई जगह पर जाएं, नए लोगों से मिले, नई चीजें पढ़े।

सोने जागने का समय (Well Sleep)– प्रत्येक व्यक्ति को 7 से 8 घंटे सोना चाहिए इसीलिए सोने का समय जरूर निश्चित करें। सोने से पहले मोबाइल, कंप्यूटर, लैपटॉप किसी भी तरह के गैजेट्स को अपने से दूर रखें ताकि सोते समय इन से disturb ना हो ।

सूची बनाएं (Make a list)- अगले दिन आपको सुबह उठकर क्या करना है, कहां जाना है, किन-किन काम को करना है इसकी लिस्ट जरूर तैयार करनी चाहिए। अगले दिन के बारे में पहले ही सोच ले, कि कल क्या करना है। जिससे सुबह होते ही अब क्या करूं? यह प्रश्न सामने ना आए।

दूसरों से तुलना Don’t Compare yourself with Other) – कुछ इंसान, किसी भी व्यक्ति की तुलना दूसरों से करते रहते हैं जबकि वह.. यह भूल जाते हैं कि हर व्यक्ति की विशेषताएँ, कमजोरी, गुण अलग-अलग होते हैं। किसी से तुलना करके खुद के साथ दूसरों को भी परेशान करते हैं। इसलिए दूसरों की तुलना करने की वजह अपने काम पर ध्यान दें और अपने काम को बेहतर बनाने की कोशिश करें।

विचार शेयर करें (Share Thoughts) – अगर आप किसी मुश्किल में है। आप को कुछ समझ में नहीं आ रहा है कि क्या करना है, कैसे करना है तो इसके बारे में अपने रिलेटिव्स या फ्रेंड्स को बताएं क्योंकि किसी भी परेशानी को अपने अंदर छुपाने से दिमाग अशांत होता है जिसके कारण डिप्रेशन बढ़ता है।

खरीदारी करें (Shopping) – यहां पर खरीददारी करने का मतलब घूमने से है जैसे कि आपके आसपास कोई मॉल दुकान या शॉप्स हैं तो आप वहां पर जाकर कपड़े या कुछ सामान देखें जिससे आपके सामने तरह-तरह की रंगाई चीजे आये। क्योंकि इन्ही रंगों के बीच आपका दिमाग व्यस्त हो जाएगा इससे आप रिलैक्स फील करेंगे।

व्यायाम करें (Exercise) – दिनभर ऑफिस, कॉलेज, स्कूल या किसी भी जगह बैठे रहने से mind के नकारात्मक विचार आने लगते है। जिसके कारण डिप्रेशन बढ़ जाता है इसलिए शारीरिक एक्टिविटी करना बहुत जरूरी है व्यायाम, डांस, वॉक, आदि जिसमें physical activity हो Peace of mind के लिए वह सब करे।

Leave a Reply