Short Moral Stories In HINDI – प्रेरक कहानी

Moral Stories In Hindi

Moral Stories In HIND

प्रेरणा Moral stories in hindi एक ऐसी है, जो की किसी के भी जीवन में बदलाव ला सकती है फिर चाहें कोई भी व्यक्ति हो और किसी भी हालात में आपने भी कई बार किसी भी घटना के बारे मेंकि लोग गुस्से में कुछ भी कर जाते फिर वो कोई अपना ही क्यों न हो पर बाद में उसे पछतावा जरूर होता है। पर अंत में पछतावे के सिवा कुछ भी नहीं रह जाता यह कहानी एक ऐसे ही व्यक्ति की है।
यह बात किसी शहर की है एक आदमी ने कार खरीदी और वह घर लेकर आया उसी समय उसकी 4 साल की बेटी घर पर थी उसने देखा की पापा घर पर लाये है। यह देख वह लड़की दौड़ते हुए कार के पास गई और पत्थर उठाकर कर कार पर कुछ लिखने लगी उसके पिता ने कार पर स्क्रैच लगते देख। लड़की की हाथ की उंगलिया इतने जोर से मरोड़ी की उसकी उंगलिया ही टूट गई और बाद में वह उसे अस्पताल ले गया वहा पर उसको  प्लॉस्टर किया गया फिर जैसे ही वह आदमी लड़की के पास गया उस लड़की ने अपने पिता का हाथ पकड़ लिया और पूछा कि पापा मेरी उंगलिया कब ठीक होगी। यह सुन उसके पिता को बहुत ही पछतावा हुआ। और बाहर कार  के पास आकर उसमें लातें मारने लगता है तभी उसकी नजर उस वहा पर पड़ी, जहा उस लड़की ने पत्थर से कुछ लिखा था उसकी बेटी ने लिखा था – आई लव यु डैडी।
सीख – हमेशा याद रखे गुस्से और प्यार की कोई सीमा नहीं होती चीजें इस्तेमाल करें के लिए होती है और प्यार बकरने  के लिए पर लोग करते इसका उल्टा है चीजों से प्यार करते है और लोगो को इस्तेमाल ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *