Success story of Abdul Kalam in hindi – अब्दुल कलाम

A.P.J Abdul kalam – ‘The Missile Man of India’
 जन्म – 15 अक्टूबर 1931 रामेश्वर, तमिलनाडु
11 वे राष्टपति – 2002 से 2007
 
अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम में एक मुसलमान परिवार मैं हुआ था। उनके पिता  जैनुलअबिदीन एक नाविक है अब्दुल कलाम रोज अखवार डालते थे मगर ये जानता था कि    जो लड़का सुबह उठकर लोंगो के घर अखबार डालता है वो आगे चलकर मिसाइल बनाऐगा और खुद मिसाइल मेन के नाम से जाना जायेगाऔर दुनिया  के लिए मिसाल बन जायेगा
अब्दुल कलाम कहते थे कि 
“जीवन में कठिनाइयाँ हमे बर्बाद करने नहीं आती है,
बल्कि यह हमारी छुपी हुई सामर्थ्य और शक्तियों को बाहर निकलने में हमारी मदद करती है, 
कठिनाइयों को यह जान लेने दो की आप उससे भी ज्यादा कठिन हो”।

अपने स्कूल के दिनों में कलाम पढाई-लिखाई में सामान्य थे पर नयी चीज़ सीखने के लिए हमेशा तत्पर और तैयार रहते थे। उनके अन्दर सीखने की भूख थी और वो पढाई पर घंटो ध्यान देते थे। उन्होंने अपनी स्कूल की पढाई Ramanathapuram Schwartz Matriculation School से पूरी की और उसके बाद तिरूचिरापल्ली के Saint Joseph’s College में Admission लिया, जहाँ से उन्होंने सन 1954 में भौतिक Physics में Graduate हुए । उसके बाद वर्ष 1955 में वो मद्रास चले गए जहाँ से उन्होंने एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की शिक्षा ग्रहण की। वर्ष 1960 में कलाम ने मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से इंजीनियरिंग की पढाई पूरी की।कलाम ने अपने कैरियर की शुरुआत भारतीय सेना के लिए एक छोटे Helicaptar का Desgine बना कर किया और उनमे सीखने की जबरजस्त भूख थी

इन्होंने वैज्ञानिक के रूप में लगभग चार दशकों तक भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) में काम किया इन्हें बैलेस्टिक मिसाइल और प्रक्षेपण यान प्रौद्योगिकी के विकास के कार्यों के लिए भारत में Missile Man के रूप में जाना जाने लगा। 2002 में भारत के राष्ट्रपति चुने गए। पांच वर्ष की अवधि की सेवा के बाद, वह शिक्षा, लेखन और सार्वजनिक सेवा के अपने नागरिक जीवन में लौट आए। इन्हे भारत रत्न, भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान सहित कई प्रतिष्ठित पुरस्कार प्राप्त किये।

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *