Success story of KFC Owner Kernel Sandars – कर्नल सैंडर्स success story

आपने कर्नल सैंडर्स के बारे में सुना हो या न सुना हो पर आप उनकी सफलता के बारे में जानकर दंग रह जायेंगे क्योंकि जिस व्यक्ति ने होटलो में बाबर्ची का किया हो 65 की उम्र के KFC (Kentucky Fried Chicken)कंपनी की शुरुआत करके उन्होंने दुनिया की नंबर एक कंपनी बना दी और दुनिया के लिए मिसाल बन गए की कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो उम्र की दीवार भी कुछ मायने नहीं रखती

65 साल ही उम्र में रिटायर हो गए रिटायरमेंट के पहले दिन सरकार की ओर से मात्र $105 (लगभग 7000 रुपए )
चेक मिला और उन्होंने उन पैसों से चिकन फ्राई करके बेचने लगे और 88 साल की उम्र तक उन्होंने दुनिया की नंबर 1 कंपनी बनाकर अरबपति बने और आज उनकी 120 देशों में 18000  से ज्यादा रेस्टारेंट है
आज दुनिया भर में KFC के होटल है और एक बहुत बड़ा ब्रांड बन चुका है
अब जरा सोचिए जो आदमी 65 साल की उम्र के बाद दुनिया ही नंबर 1 कंपनी बना सकता है तो फिर हम ऐसा क्यों नहीं कर सकते करने की चाह और लगन हो तो कुछ भी किया जा सकता है
कर्नल सैंडर्स की कहानी बताती है  कि कभी निराश मत होइये प्रयास करते रहिए क्योंकि मेहनत कभी बेकार नहीं जाती और सफलता जरूर प्राप्त होती है

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *